Backlink-vs-content-se-kya-phyada-hai

Backlink vs Content : नमस्कार दोस्तो आप सभी ने मुझसे वेरियस सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म के जरिये ये पुछा है की Backlink ज्यादा जरुरी है या Content अपने वेबसाइट पर traffic लाने के लिये दोनो मे से किस चिज की ज्यादा अवशकता है तो आज के इस article में आपको सारा चिज स्पष्ट हो जाएगा।

“If I need to choose between backlinks or content, which should I work on first? Which will be more useful for website traffic?”

हेल्लो दोस्तो, 

यह एक बड़ा सवाल है जो लगभग हर व्यवसाय के मालिक और मार्केटिंग टीम पूछती है ।

आपको जान कर बेहद खुसी होगी की इस सवाल का जबाब काफी आसान है।

Go with Content ( आप कंटेंट के साथ जाये )

यदि आपको content बनाने और बैकलिंक्स बनाने के बीच चयन करना है, तो content के साथ जाएं।

Here are four reasons why: ( इसके चार कारण मै आपको बताऊंगा )

Content Is for Your Users

  • बैकलिंक्स विशेष रूप से SEO Purpose के लिए हैं।
  • Content आपके उपयोगकर्ताओं के लिए आपकी साइट के साथ engage करने का काम करता है , अगर आपके वेबसाइट पर अच्छी content होगा तो यूजर निरंतर आपके वेबसाइट को visit करते रहेंगे जिससे आपको Backlink की अवशकता ही नही पड़ेगी । ( उधाहरण के लिये अगर आप चाहते है की आपके वेबसाइट की लिंक मै आपने वेबसाइट पर इस्तमाल करू, लेकिन आपके वेबसाइट पर content ही नही है तो मै क्यू करूंगा ये काम)

यह भी उल्लेखनीय है कि श्रेणी और उत्पाद पृष्ठों के लिए बैकलिंक प्राकृतिक लिंक नहीं हैं और जब तक आप निर्माता नहीं हैं, स्वाभाविक रूप से अपका कंटेंट नहीं हैं।

Content Is Why People Link

 कहने का मेरा दूसरा कारण यह है कि Content अधिक महत्वपूर्ण है कि बैकलिंक्स पर मै यहाँ भी बोलूंगा की content का चयन करें, व्यक्ति को स्वाभाविक रूप से आपकी साइट से लिंक करने का यही एक मात्र कारण है जिसकी वहज से आपके वेबसाइट पर लम्बे समाए तक traffic आती रहेगी।

अगर आप informative resources, sharing data, ways to accomplish a specific task, relevant game or quiz इस तरह का content हमेसा पोस्ट करते है तो लोग आपके कंटेंट को वेरियस सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर शेयर करेंगे जिसीसे आपके वेबसाइट पर एक्स्ट्रा traffic आयेगा ।

Content Defines a Page’s Topic

तीसरा, बैकलिंक हमेशा यह परिभाषित नहीं करते हैं कि Page पर क्या है, लेकिन बैकलिंक्स यह संकेत देते हैं कि इस page पर किस type का content हो सकता हैं ।

दूसरी ओर, content,  header tags, title tags, internal links, schema (although this is more technical SEO), etc. का उपयोग करके किसी Page के विषय को परिभाषित करता है।

हालाँकि, आपके पास बैकलिंक्स के प्रकारों का मिश्रण होना चाहिए:

  • Keyword-rich, branded links, and citations.
  • Dofollow, nofollow, sponsored, UGC, etc.
  • News/media, bloggers and content producers, comments, and freebies from forums and communities.
  • Directories, local guides, and industry resource sections.

कृपया ध्यान दें कि ऊपर दिए गए चार बुलेट बिंदु सभी चीजें हैं जो स्वाभाविक रूप से होती हैं ।मैं किसी एक या दूसरे पर निर्माण और ध्यान केंद्रित करने की सलाह नहीं देता।

Content Helps with Site Structure

मेरा चौथा कारण यह है कि content आपको आंतरिक लिंकिंग के माध्यम से साइट संरचना और वास्तुकला बनाने में मदद कर सकती है।

अगर आप Nutural आंतरिक लिंकिंग संरचना का निर्माण करके आप लोगों को संसाधनों के लिए मार्गदर्शन करने की कोशिश कर रहे हैं और तुलनात्मक गाइड जैसी उपयोगी content से विकल्प खरीद रहे हैं। ये सारी चीजे आपके website visitors and search engine spiders को अपके वेबसाइट का structure तैयार करने मे मदद करता है।

 Conclusion: Backlink vs Content

Content Is Better for Your Website

  • बैकलिंक्स आपके वेबसाइट को rank कराने मे महत्वपूर्ण भुमिका निभाता हैं।
  • लेकिन content PPC to SEO, media coverage, and referral traffic तक सभी चैनलों पर काम करती है। 

Good content can also lead to backlinks.

यदि आपको दोनों के बीच चयन करना है, तो आपको content के साथ जाना चाहिये।

ये भी पढ़े 

[su_posts template=”templates/teaser-loop.php” posts_per_page=”7″ tax_term=”3″ order=”desc”]

Leave A Reply

Please enter your comment!
Please enter your name here